दुनिया में इस जगह पर हैं 100 से भी ज्यादा जुड़वां बच्चे(Twins)…

| |

hindi twins blogs

लोग हमेशा जुड़वा बच्चों (Twins) की ओर आकर्षित होते हैं, वास्तव में, 2017 में संयुक्त राज्य अमेरिका में रोग नियंत्रण और रोकथाम केंद्र (CDC) के अनुसार, प्रत्येक 1000 बच्चों के जन्म के पीछे 33 जुड़वाँ बच्चे थे। 

भारत के कोडिन्ही और ब्राजील के कैंडिडो गोडोई में भी बड़ी संख्या में जुड़वा बच्चे देखे गए हैं। 

यद्यपि आनुवंशिकता को इसका कारण माना जाता है, लेकिन शोध से पता चलता है कि इस क्षेत्र में महिलाओं के खाने की आदतों से कई जन्म संबंधित हो सकते हैं।

समान और भ्रातृ जुड़वां सबसे आम हैं, लेकिन कई अन्य दुर्लभ प्रकार भी इस स्थान पर हैं। चलो आज जुड़वा बच्चों के बारे में कुछ रहस्यमय बातों पर चर्चा करते हैं:

  1. कोडिन्ही (KODINHI):
कोडिन्ही (KODINHI)
Source-thenewsminute

भारत के केरल के मलप्पुरम में एक सुंदर और शांत गाँव कोडिन्ही, शोधकर्ताओं के लिए एक रहस्य है। इस गांव में सबसे ज्यादा जुड़वां बच्चे हैं। 

2,000 परिवारों की आबादी वाले इस गांव में कम से कम 400 जुड़वां बच्चे हैं। 

आधिकारिक अनुमानों के अनुसार, 2008 में गांव में 280 जोड़े जुड़वां थे, लेकिन बाद के वर्षों में संख्या काफी बढ़ गयी है, ऐसा निवासियों का कहना है। 

कोडिन्ही में, जुड़वां जन्मों का राष्ट्रीय औसत 9 प्रति 1000 जन्म से 45 प्रति 1000 जितनी अधिक औसत है।

अक्टूबर 2016 में, कुछ शोधकर्ताओं ने इस घटना का जवाब खोजने के लिए गांव का दौरा किया। कई लोग कहते हैं कि यह अनुवांशिक है, कुछ तो यह भी कहते हैं कि गाँव में हवा या पानी के कुछ तत्व इस घटना का कारण हो सकते हैं। 

“जहां तक हमारा अध्ययन है वहां तक हम ने कोडिन्ही के लोगों से नमूने एकत्र किये, लेकिन अभी तक कोई वैज्ञानिक व्याख्या इस घटना के लिए मिली नहीं,” ऐसा डॉ Pritham ने कहा है। 

  1. अलाबट Alabat
अलाबट Alabat twins island information in hindi
Source-Newslions

फिलीपींस में एक द्वीप है जहां मुख्य व्यवसाय मच्छीमारी है। गाँव में ऐतिहासिक रूप से जुड़वाँ बच्चों का उच्च दर है, जिसकी आबादी केवल 15000 है, लेकिन 100 से अधिक जोड़े जुड़वाँ हैं। 

यह द्वीप जुड़वा बच्चों (Alabat Twins island) की संख्या के लिए विश्व प्रसिद्ध है और स्थानीय लोग जुड़वा बच्चों को एक जैसे ही कपड़े पहनाते हैं, जिससे उन्हें पहचानना और ज्यादा मुश्किल हो जाता है। 

पिछले कुछ वर्षों में अलाबट में जुड़वा बच्चों की संख्या भी बढ़ी है।  

1996 और 2006 के बीच, प्रजनन दवाओं के उपयोग से 35 वर्षीय महिलाओं में एक से अधिक गर्भधारण में 182 प्रतिशत की वृद्धि हुई।

अभी तक किसी वैज्ञानिक ने इस बात का अध्ययन नहीं किया है कि इस जगह पर जुड़वा बच्चों की संख्या इतनी अधिक क्यों है।

कॅंडीडो गोडॉई, ब्राझील (Cândido Godói, Brazil):

कॅंडीडो गोडॉई, ब्राझील (Cândido Godói, Brazil): twins land
source-alaricstephen

ब्राजील में भी ऐसी ही एक जगह है जिसे “जुड़वा बच्चों की भूमि” (land of twins) कहा जाता है। लेकिन जुड़वां बच्चों के जन्म के पीछे का राज अभी तक सामने नहीं आया है। 

ब्राजील के छोटे फार्म सिटी की आबादी लगभग 6,600 है, जिनमें से कम से कम 700 बच्चे जुड़वां हैं। दस गर्भधारण में से एक जुड़वां होता है, और यह संख्या वैश्विक औसत के दोगुने दर से भी बहुत अधिक है। 

शहर में एक महिला की मूर्ति है जो जुड़वां बच्चों को लेकर खड़ी है। मूर्ति के चारों ओर एक द्विवार्षिक पार्टी का आयोजन करके, ये लोग “जुड़वा बच्चों की भूमि” होने की खुशी मनाते हैं। 

statue of a woman standing with twins
Source-www.candidogodoi.rs.gov.br

एक चौंकाने वाला और संदेहास्पद सिद्धांत यह है कि जोसेफ मेंजेल (Josef Mengele) नाम का नाझी डॉक्टर, जिसे “मौत का दूत” कहा जाता है, उन्होंने 1963 में इस गांव में आनुवंशिक प्रयोग किए।

कुछ रिपोर्टों के अनुसार, मेंजेल ने 1960 के दशक में ब्राजील के दक्षिण की यात्रा की थी। पशु चिकित्सकों जैसे उपनामों का इस्तमाल करके महिलाओं पर प्रयोग किए गए, जिसके परिणामस्वरूप जुड़वा बच्चों की संख्या बढ़ गयी है।

उस सिद्धांत को एक कल्पना के रूप में बदनाम किया गया है। हालांकि, 1979 में ब्राजील में मेंजेल की मृत्यु हो गई, और उन्होंने आर्यन जन्म को बढ़ाने की कोशिश करते हुए ऑशविट्ज़ (Auschwitz) में जुड़वा बच्चों पर घातक प्रयोग किए। 

कुछ निवासियों का यह भी मानना ​​है कि जुड़वां उनके गांव के पानी के कारण होते हैं, जबकि अन्य का कहना है कि वहां कुछ रहस्यमय खनिज है। 

लेकिन वैज्ञानिकों ने पाया है कि अलौकिक समाज के आनुवंशिक प्रवृत्ति के कारण इस क्षेत्र में जुड़वा बच्चों की संख्या में वृद्धि हो सकती है। 

खासकर Linha São Pedro जिले में इन जुड़वा बच्चों की कहानी कुछ ज्यादा ही है।  

वेलिकाया कोपन्या (Velikaya Kopanya, Ukraine Europe): 

वेलिकाया कोपन्या (Velikaya Kopanya, Ukraine Europe):
Source-CEN

यूक्रेन के एक गांव को “जुड़वा बच्चों का जन्मस्थान” कहा गया है क्योंकि यह कुल 122 जुड़वा बच्चों का घर है।(Ukraine Twins town)

दक्षिण-पश्चिमी यूक्रेन के ज़खरपटिया ओब्लास्ट क्षेत्र में वेलिकाया कोपन्या गांव की आबादी 4,000 से कम है। लेकिन उनमें से जुड़वा बच्चों की कुल संख्या 122 है जो इतनी कम जगह के लिए बहुत बढ़ी है।

जुड़वां बच्चों के इस गांव ने पहले से ही यूक्रेन की रिकॉर्ड बुक में अपनी जगह बनाई है, और यह गिनीज बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड में भी जगह बना सकती है।

लोगों के अनुसार, इस गांव में पैदा होने वाले जुड़वा बच्चों की संख्या देश के अन्य हिस्सों की तुलना में अधिक है।

स्थानीय पार्षद मारियाना सावका ने कहा: “बेबी बूम का आखिरी साल 2004 में था। लेकिन तब से, हमारे यहाँ साल में कम से कम दो से तीन जुड़वा बच्चे पैदा होते हैं।”

ग्रामीणों का मानना ​​​​है कि ‘जुड़वाँ’ पानी के कारण होते हैं जिसमें स्वास्थ्यवर्धक गुण हैं।

दानिला और दिमित्रो जुड़वां भाई हैं, उनके गालों पर केवल एक जन्म का निशान है। उनका कहना है कि उनके शिक्षक को अभी भी दोनों को पहचानना मुश्किल हो जाता हैं।

इग्बो-ओरा (Igbo-Ora Nigeria Africa):

इग्बो-ओरा (Igbo-Ora Nigeria Africa): twins blacks
Source-thisisafrica.me

इग्बो-ओरा यह नाइजीरिया में सबसे असाधारण खोजों में से एक है, जिसमें हर 1000 जन्म पर 158 जुड़वा बच्चे पैदा होते हैं।

1972 और 1982 के बीच ब्रिटिश स्त्री रोग विशेषज्ञ पैट्रिक नीलैंडर के एक अध्ययन के अनुसार, यूरोप में प्रत्येक 1,000 जन्मों के लिए लगभग 16 जुड़वां बच्चे हैं, और संयुक्त राज्य अमेरिका में प्रति 1,000 जन्मों के लिए लगभग 33 जुड़वां बच्चे हैं, और दक्षिण – पश्चिम में प्रति 1,000 जीवित जन्मों के पीछे औसत 45 से 50 जुड़वां बच्चे हैं। । 

ओयो राज्य के लागोस से 80 किलोमीटर की दूरी पर स्थित यह एक शांत शहर के रूप में जाना जाता है, जो ज्यादातर किसानों और व्यापारियों से बना है। यह शहर दुनिया के जुड़वां बच्चों की राजधानी के रूप में प्रतिष्ठित है। 

दुनिया में कहीं और की तुलना में इग्बो-ओरा में अधिक जुड़वां पैदा होते है, शहर से घूमते हुए आप सोच सकते हैं कि लगभग सभी लोग एक जैसे ही दीखते हैं। यहाँ हर घर में एक जुड़वां होता है।

मोहम्मदपुर उमरी, भारत (Mohammadpur Umri, India): 

मोहम्मदपुर उमरी, भारत (Mohammadpur Umri, India):
Source-tripoto

मोहम्मदपुर उमरी गाँव इलाहाबाद के पास पवित्र नदियों गंगा और यमुना के संगम पर स्थित है। 

300 घरों में से 54 जोड़े जुड़वां हैं। अलेक्जेंडर लिखते हैं, “भारत में, एक माँ के पास जुड़वाँ होने की संभावना 80 में से 1 होती है और समान जुड़वाँ होने की 300 में से 1 संभावना होती है।

हालांकि, आयु वर्ग में दस जन्मों में से एक के समान जुड़वाँ बच्चे होते हैं। गाँव को एक मोनोज़ायगोटिक (MZ) या समान जुड़वां जन्म दर होने पर गर्व है, जो राष्ट्रीय औसत से 300 गुना अधिक और दुनिया में सबसे अधिक है।”

इस क्षेत्र में जुड़वा बच्चों की संख्या असामान्य क्यों है, इस पर वैज्ञानिक, डॉक्टर और ग्रामीण लोगों के विचार अलग-अलग हैं। 

इस घटना की शुरुआत करीब 40 साल पहले हुई थी, जब गांव के पास वायुसेना अड्डा स्थापित किया गया था। कुछ का मानना ​​​​है कि स्टेशन की प्रयोग प्रणाली का दोष है। दूसरों का मानना ​​​​है कि मिट्टी और पानी में कुछ है या यह “भगवान का उपहार” है। 

शायद और भी दिलचस्प बात यह है कि उमरी के पास एक डबल गाय और भैंस भी है, साथ ही एक मुर्गी भी है जो एक डबल अंडा देती है।

और पढ़े – 

  1. 5G अभिशाप या वरदान? 
  2. क्रिप्टोकरेंसी इतनी ऊर्जा का उपयोग क्यों करती है?
  3. क्या नियमित व्यायाम से कोरोना वायरस बीमारी की गंभीरता कम होती है?
  4. आपके लिए ऑक्सीजन इतना महत्वपूर्ण क्यों है?

अगर आपने इस पोस्ट से कुछ भी नया सीखा है और आपको यह पसंद आया है, तो कृपया इस पोस्ट को फेसबुक, ट्विटर और व्हाट्सएप जैसे अन्य सोशल मीडिया साइट्स पर share करें।

और इस प्रकार की नवीनतम जानकारी के लिए, दाईं ओर की घंटी पर क्लिक करें ताकि आप हमारे हर एक नए लेख को सबसे पहले पढ़ सकें और वह भी मुफ्त में।

पढ़ो और खुश रहो! धन्यवाद!

Previous

5G अभिशाप या वरदान? (5G Harmful or Not)

2 thoughts on “दुनिया में इस जगह पर हैं 100 से भी ज्यादा जुड़वां बच्चे(Twins)…”

Leave a Comment