पिछले साल Apple Samsung की तुलना में दुनिया में सबसे अधिक चायनीज फोन क्यों बिके? (Rise of Chinese Smartphones)?

| |

पिछले कुछ दशकों से Apple और Samsung वैश्विक स्मार्टफोन बाजार में प्रमुख खिलाड़ी रहे हैं लेकिन हाल के वर्षों में चीनी स्मार्टफोन ब्रांड ने चीन के बाहर वैश्विक बाजार में हिस्सेदारी हासिल की है। (Rise of Chinese Smartphones)

Xiaomi, Oppo और Vivo भले ही हमारे देश में कंपनियां न हों लेकिन ये चीनी स्मार्टफोन ब्रांड शक्तिशाली और किफायती हैं और दुनिया भर के उपयोगकर्ताओं के लिए अधिक से अधिक आकर्षक बन रहे हैं।

2020 में, दक्षिण कोरिया की Samsung ने 255 मिलियन यूनिट्स की बिक्री कर वैश्विक स्मार्टफोन लदान की सूची में शीर्ष पर रहा है।

global smartphone shipment in 2020
source-canalys

और Apple ने 205 मिलियन यूनिट्स के शिपमेंट के साथ दूसरे स्थान पर है। 

लेकिन उस साल चीनी ब्रांड Xiaomi, Oppo और Vivo ने उनकी जगह लेते हुए हर साल 100 मिलियन स्मार्टफ़ोन भेजे। 

चीनी निर्मित फ़ोनों के लोकप्रिय होने का मुख्य कारण यह है कि वे शीर्ष ब्रांडों की तुलना में अधिक मॉडल (कम-मध्य-उच्च श्रेणी में) लेकर आते हैं। 

चीनी फोन कंपनियां न केवल हर साल एक या दो प्रीमियम फ्लैगशिप मॉडल जारी करती हैं, बल्कि वे प्रीमियम फीचर्स के साथ सबसे किफायती फोन पेश करने की कोशिश करती हैं। 

इसलिए चीनी फोन प्रीमियम फीचर्स के साथ रियायती मूल्य पर उपलब्ध हैं, इसलिए चीनी स्मार्टफोन की बिक्री आसमान छू गई है। 

पहला 5G स्मार्टफोन

2020 की पहली तिमाही में Xiaomi ने अपने पहले 5G स्मार्टफोन की लॉन्चिंग केवल 25,000+ रुपये में की थी, उसके बाद अन्य चीनी ब्रांड्स ने पूरे साल सस्ते 5G फोन लॉन्च किए।

Xiaomi first 5g phone event rise of chinese smartphones
source-Xiaomi

Apple और Samsung ने चीनी मिड-रेंज 5G फोन की मजबूत बिक्री का सामना करने के लिए कम-लागत वाले फोन बनाने शुरू किए, लेकिन उन्हें अपने फोन की कीमत चीनी स्मार्टफोन जैसी बनाए रखना बहुत मुश्किल गया। 

Apple ने अपना पहला 5G iPhone 2020 की चौथी तिमाही में पेश किया था और 2020 के अंत तक इसने इतिहास में पहली बार कुल चार 5G  iPhone लॉन्च किए थे, जो अन्य ब्रांडों के मिड और हाई-एंड फोन के साथ प्रतिस्पर्धा करते थे।

Apple event of iphone 12
source-apple

Apple ने पिछले साल 81 मिलियन आईफ़ोन भेजे, जबकि Xiaomi, Oppo और Vivo ने मिलकर 100 मिलियन से अधिक स्मार्टफ़ोन भेजे।

चीनी स्मार्टफोन ब्रांड्स का राज –

चीनी ब्रांड की सफलता का एकमात्र कारण न केवल सस्ती कीमत पर सर्वश्रेष्ठ फोन प्राप्त करना है, बल्कि ग्राहक को प्रत्येक Apple और Samsung फ्लैगशिप फोन के समान या बेहतर सुविधाएं देना है। 

बाजार के बड़े ब्रांडों की तरह, चीनी ब्रांड हर साल अपने प्रमुख मॉडलों में नए कैमरे और स्क्रीन तकनीक पेश करते हैं, लेकिन कभी-कभी वे प्रमुख ब्रांडों से पहले ही नई तकनीकों को पेश करते हैं।

कैमरे के प्रौद्योगिकी में चीनी कंपनियों निश्चित रूप से बहोत आगे है, पिछले साल से चीनी कंपनियों ने Leica, Hasselblad आणि Zeiss जैसे फोटोग्राफी के बड़े ब्रांड्स के साथी द्वारा एक महान फोटोग्राफी फोन का विकास किया है और बेहतर फोटोग्राफी अनुभव और उत्कृष्ट सेवा देने का अच्छा प्रयास किया हैं।

oneplus and hasselblad collab
source-oneplus

स्क्रीन के लिए ज्यादातर चीनी स्मार्टफोन उच्च रिफ्रेश रेट के साथ क्लियर डिस्प्ले तकनीक वाले फोन ला रहे हैं और बड़े ब्रांड के चार्ज की तुलना में कम कीमत में अधिक प्रभावशाली फीचर्स और शानदार डिजाइन वाले फोन बाजारों में उपलब्ध है।

चीनी ब्रांड अब कैमरा या स्क्रीन प्रौद्योगिकी में नवाचारों के साथ फोल्डेबल फोन बनाने की राह पर हैं। Oppo ने दुनिया का पहला रोलेबल स्मार्टफोन ओप्पो एक्स कॉन्सेप्ट फोन भी पेश किया है। (Oppo Rollable Phone) 

oppo-rollable-phone- rise of chinese smartphones

फोल्डेबल फोन के लिए 2021 अभी भी एक अवधारणा वर्ष है और शायद व्यावसायिक रूप से लॉन्च होने में लंबा समय है, लेकिन उनके शोध से पता चलता है कि चीनी कंपनियां नेक्स्ट-लेवल स्मार्टफोन बनाने की दौड़ में Apple और Samsung से आगे निकलने की कोशिश कर रही हैं।

जैसा कि Xiaomi पिछले साल कोरोना अवधि के दौरान अपने R&D सेगमेंट में $1 बिलियन खर्च किया, उसे देखकर लगता है की चीन में Apple और Samsung के लिए  तगड़े प्रतियोगी उभर रहे हैं।  

Samsung The Market Leader

वैश्विक मोबाइल बाजार के प्रमुख Samsung और चीनी स्मार्टफोन कंपनियों में कम-से-मध्यम श्रेणी के मॉडल बनाने के मामले में कुछ सामान्य है। 

Samsung Foldable phone

फोल्डेबल हैंडसेट पर सैमसंग का शोध पूरे जोरों पर है, वे स्मार्टफोन बाजार में नवीनतम प्रवृत्ति है।

लेकिन दूसरी ओर, यह कहना गलत नहीं होगा कि पिछले वित्तीय वर्ष कुछ चीनी ब्रांडों के लिए अच्छा था। पिछले साल आए कोरोना वायरस ने चीन को लेकर कई देशों में नफरत फैला दी है। 

अमरीकी सरकार द्वारा चायनीज़ कंपनियों पर लगाए गए प्रतिबन्ध –

इसी समय, कुछ चीनी कंपनियों को अमरीकी सरकार द्वारा लगाए गए आरोप और उन पर लगाए गए प्रतिबंधों के कारण भारी नुकसान उठाना पड़ा है। 

अमेरिकी व्यवसायों को चीनी कंपनी के साथ व्यापार करने पर प्रतिबंध लगा दिया गया था।  Huawei फोन पर Google Apps का उपयोग बंद कर दिया था, जिस कारन कंपनी के सॉफ्टवेअर इकोसिस्टम के लिए एक बड़ा झटका लगा और 2020 में Huawei स्मार्टफोन की बिक्री चीन के बाहर तेजी से गिरी है। 

ZTE and Huawei banned in US chinese smartphones

ZTE ने उत्तर कोरिया और ईरान को प्रौद्योगिकी निर्यात करके अमरीकी प्रतिबंधों का उल्लंघन किए जाने के बाद अमेरिकी सप्लायर्स द्वारा अन्य चीनी स्मार्टफोन निर्माता को निर्यात करने पर प्रतिबंध लगा दिया है।

लेकिन इन बाधाओं के बावजूद, अन्य चीनी स्मार्टफोन ब्रांड अभी भी लोकप्रियता हासिल कर रहे हैं और LG, HTC, SONY, NOKIA आणि MOTOROLA सहित कुछ प्रतिष्ठित मोबाइल कंपनियां दुनिया भर में अपनी अच्छी छवि बना रही हैं। LG ने हाल ही में घोषणा की कि वह मोबाइल फोन कारोबार से बाहर निकल रहा है। 

निष्कर्ष (Rise or Down of Chinese smartphones)

कुल मिलाकर, ये सभी चीनी ब्रांड बाजार पर बहुत अधिक हावी होंगे, क्योंकि वर्तमान के Made in China उत्पादों और पिछले चीनी उत्पादों बीच एक बड़ा अंतर है। 

ये नए उत्पाद उच्च तकनीक और कुशल जनशक्ति का उपयोग करके बनाए गए हैं इसलिए यह गुणवत्ता के मामले में उत्कृष्ट है। 

जिन देशों ने कोरोना महामारी के कारण चीन का बहिष्कार किया वे वर्तमान में चीन से सबसे अधिक माल आयात कर रहे हैं। 

2021 की पहली तिमाही के आंकड़ों को देखते हुए, चीन ने पिछले वर्ष की तुलना में अधिक निर्यात किया है। इसलिए चीन की जगह लेने का बहुतों का सपना चीन ने पूरी तरह से तोड़ दिया है। 

आप की इस बारे में क्या राय हैं हमें जरूर बताये…

यदि आपको इस लेख के बारे में कोई संदेह है या आपको लगता है कि इसमें थोड़ा सुधार होना  चाहिए, तो आप नीचे कंमेंट कर सकते हैं।

और पढ़े – 

  1. Ford-GT फोर्ड की ऐसी कार जिसे खरीदना बहोत की मुश्किल। जानिए क्यों।
  2. जानिए भारत के बारे में कुछ ऐसी बातें जो कोई नहीं जानता (OMG things of India)
  3. सिर्फ 45 मिनट में दिल्ली से मेरठ! Delhi Meerut Expressway
  4. शहीद दिवस: बलिदान की वजह से हम आज हैं आजाद

अगर आपने इस पोस्ट से कुछ भी नया सीखा है और आपको यह पसंद आया है, तो कृपया इस पोस्ट को फेसबुक, ट्विटर और व्हाट्सएप जैसे अन्य सोशल मीडिया साइट्स पर share करें।

और इस प्रकार की नवीनतम जानकारी के लिए, दाईं ओर की घंटी पर क्लिक करें ताकि आप हमारे हर एक नए लेख को सबसे पहले पढ़ सकें और वह भी मुफ्त में।

पढ़ो और खुश रहो! धन्यवाद!

Previous

Ford-GT फोर्ड की ऐसी कार जिसे खरीदना बहोत की मुश्किल। जानिए क्यों।

दिल्ली में हॉस्पिटलों से SOS सन्देश क्यों भेज रहे है डॉक्टर?

Next

Leave a Comment